What Is Internet In Hindi – Internet Kya Hai In Hindi सीखे हिन्दी में

What Is Internet In Hindi –  Internet Kya Hai इसके बारे में कोोई नहीं जानना चता है। जब तक हमारे हट में Internet है, जिसके जरिए हम सब एक और एक के साथ जुड़े रहे ते है उसके बारे में जरूर सबको जानना चाहिए।

जब दुनिया पर कंप्यूटर की आविष्कार हुआ था उसके बाद बिग्गानी के अंदर और भी बेहतर तरीके की उम्मीद आया था कैसे एक कंप्यूटर की डाटा को और एक कंप्यूटर पर वेज सकते है। उसके बाद धीरे धीरे सारे सिस्टम और भी बेहतर हुआ, और अजकी देना का दिल बं गया है Internet

 

जारा एक बार चोचिए की, अगर आपके हट पे मोबाइल यह तो कंप्यूटर है लेकिन उसने Internet नहीं है। तो आपकी मोबाइल किसी कम पे नहीं लगने वाला। ऐसे इंटरनेट पूरा दुनिया को सबके साथ सबको जुरे रखते है। इसी लिए आज हम सबको मालूम होना चाहिए आखिर यह What Is Internet In Hindi ( Internet Kya Hai )

 

What Is Internet In Hindi

Internet Kya Hai इसके बारे में जानने से पहले आपको पर्सनल मोबाइल यह तो कंप्यूटर की बारे में मालूम होना चाहिए। जब आपको किसी फोटोस, video’s को किसी दूसरे मोबाइल पर यह तो किसी और एक मेमोरी कार्ड पर send करना हो तब आप किया करते हो ?

किसी एक डाटा ( Photo, Video, Music etc ) को अगर हम कंप्यूटर से किसी और एक device पार देना चाता है तो उसके लिए हम एक डेटा केबल की इस्तेमाल करते है। मतलब हमारे किसी भी डेटा को शेयर करने केलिए एक केबल को हमने इस्तेमाल करते है।

What-Is-Internet-In-Hindi
Djtechhindi.com/Internet

अगर आप कवि एक कंप्यूटर की देता को किसी दूसरे कंप्यूटर भी इस्तेमाल करना चाहोगे तो इस तरीके की डेटा केबल / Data Cable को यूज करके कर सकते हो।

इस तरह खाली दोनों कंप्यूटर को नहीं बहुत सारे कंप्यूटर को एक साथ में जोड़ा जाता है जब बहुत सारे कंप्यूटर को एक साथ में जोड़कर डाटा को शेयर किया जाता है और किसी एक डाटा को हर कंप्यूटर पर इस्तेमाल किया जाता है तब भी एक नेटवर्क / Network हो जाता है।

इस तरह दुनिया की सारे कंप्यूटर हार एक कंप्यूटर से जुड़े रहते हैं। और सारे कंप्यूटर को जिसने जोड़ता है उसको हम डाटा केबल कहते हैं। दुनिया में बहुत सारे कंप्यूटर है जिसके पास वह डाटा केबल नहीं पहुंच पाते हैं उसके लिए हर देश में एक इंटरनेट की डाटा सरवर रहते हैं।

हमारे इंडिया देश में भी बहुत सारे डाटा सेंटर ( Data Center ) है जहां पर दूसरे देश की डाटा सेंटर से कनेक्ट किया हुआ है और उसी देश में से डाटा डाटा केबल ( Opticle Fiver ) के जरिए हमारे देश की डाटा सेंटर में आता है और उसके बाद उसी डाटा को जब हम इंटरनेट पर सर्च करते हैं तब वो डाटा हमारे कंप्यूटर पर आ जाता है।

जैसे हम एक फोटोस या वीडियोस को किसी दूसरे मोबाइल नहीं तो कंप्यूटर पर एक कंप्यूटर से दे सकते हैं उसी तरीके से नेटवर्क डाटा को ट्रांसफर करते हैं एक डाटा सेंटर से दूसरे डाटा सेंटर तक।

सारी दुनिया में बहुत सारे डाटा सेंटर है जैसे हमारे देश में मुंबई चेन्नई कोलकाता इस तरह बड़े बड़े शहर में बहुत बड़ा बड़ा डाटा सेंटर रहते हैं और उसी डाटा सेंटर से बाहर की देशों की डाटा सेंटर से कनेक्ट रहते हैं।

समझे जब हम किसी दूसरे देश की डाटा खोजने के लिए इंटरनेट पर उसी देश की वेबसाइट को लिखते हैं तब हमारे कंप्यूटर से पहले एक वार्ता हमारे देश की डाटा सेंटर पर पहुंच जाते हैं। उसके बाद हमारे देश की डाटा सेंटर से जिस देश की डाटा को मुझे चाहिए उस देश की डाटा सेंटर तक चला जाता है और जहां पर उसी देश में बोर डाटा है वहां से लेकर ही मेरे कंप्यूटर पर देता है।

इस तरह आज के दुनिया पर कंप्यूटर और मोबाइल को लेकर डाटा की एक नेट बना हुआ है और सारे डेटा सेंटर को नेट के जरिए जोड़ा गया है। दुनिया में यह जो डाटा सेंटर की कनेक्ट किया गया है इसको नेट की जा रही है देखा जाता है और इसको सब Inter Connect किया हुआ है। इसलिए इसका नाम दिया गया है इंटरनेट।

मुझे उम्मीद है आपको Internet Kya Hai इसके बारे में पता चल गया है। और अभी समझे आपके हाथ में जो मोबाइल या कंप्यूटर है वह भी एक डाटा की सोर्स बन सकता है। और आपके मोबाइल या फिर कंप्यूटर भी एक डाटा डिस्पले सेंटर भी है क्योंकि आप जब इंटरनेट पर किसी चीज के खोज करते हो तब आपके पास बहुत सारे डेटा आ जाता है।

दोस्तों इंटरनेट क्य है / What Is Internet In Hindi के बारे में मैंने बहुत तरीके से समझने की कोशिश किया हूं अब हम देखेंगे कि यह जो इंटरनेट है एक कप से दुनिया पर शुरू हुआ था और किसने शुरू किया था मतलब History Of Internet In Hindi

 

History Of Internet In Hindi

Internet Kya Hai इसके बारे में मैंने आपको पहले बता दिया है लेकिन आप यहां पर हम बात करेंगे यह जो इंटरनेट है यह किसने शुरू किया था और किसने इंटरनेट दुनिया पर आया था मतलब किसने इंटरनेट को दुनिया पर पहले इस्तेमाल किया था इसके बारे में।

इंटरनेट की अविष्कर करना बहुत आसन नहीं थे। What Is Internet के बारे में जब हम बताए थे वहां पर लिखे थे एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर से जोड़ा जाता है इंटरनेट के जरिए। 1969 में एक अमेरिकन एजेंसी कोशिश कर रहे थे कैसे एक कंप्यूटर को दूसरे एक कंप्यूटर के साथ कनेक्ट किया जा सकता है।

History-of-internet
Djtechhindi.com/Internet

अमेरिकन कंपनी ने जब एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर से जुड़ा था तब इसी प्रोजेक्ट को नाम दिया था ARPANET। और यह ARPANET में उस कंपनी लगभग 10,000 कंप्यूटर को एक साथ में जुड़ा हुआ था।

दोस्तों जब एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर से जोड़ने के बाद एक डाटा ट्रांसफर का सिस्टम तेर होता है तब बहुत सारे कंप्यूटर को एक साथ जोड़ने के बाद बहुत बड़ा एक नेटवर्क मतलब डाटा ट्रांसफर सेंटर होता है। और इसीलिए जितने दिन जाते गए बहुत सारे कंप्यूटर को इस तरह उसी नेटवर्क में जुड़ा जाता गया और इंटरनेट का जो सिस्टम था वह और भी बहुत बड़ा होता गया।

इस तरह से 1992 में लगभग वन मिलियन कंप्यूटर को नेटवर्क के साथ जुड़ा गया था और 1993 में 20 लाख कंप्यूटर को इसी नेटवर्क के अंदर शामिल किया गया था मतलब इसके जो रेंज था वह धीरे-धीरे बढ़ती गए और आज भी इंटरनेट की दुनिया बढ़ रही है।

 

ARPANET Kya Hai

ARPANET ( advanced research project agency network ) को 1969 में बनाया गया था। अमेरिका में सेना की काम को बहुत आसन करने के लिए इसको विकसित किया गया था। और इसी से शुरू होता आज की दुनिया का इंटरनेट के इतिहास और इंटरनेट के शुभ यात्रा।

ARPANET को पहले सिर्फ अमेरिका के अंदर के सारे कंप्यूटर को जोड़ने के लिए बनाया गया था उसके बाद और भी बहुत देश की कंप्यूटर को इसमें जुड़ा गया था लेकिन इसका जो यूजर रिफरेंस है वह बहुत कठिन होता है।

ARPANET का सबसे खास बात है अगर पूरा दुनिया के इंटरनेट बंद हो जाते हैं तब भी यह कभी बंद नहीं होगा और अमेरिका की रक्षा खेतों में दुनिया का कोई असर नहीं पड़ेगा। ARPANET को और भी बहुत आसन करने के लिए अमेरिका ने सेटेलाइट अलग से भेजा है।

पूरा अमेरिका की इस नेटवर्क अमेरिका का रक्षा क्षेत्र की Back Bone है। क्योंकि इसका एक अलग से आईपी एड्रेस होता है जिसको किसी भी नेटवर्क में शेयर नहीं किया जाता है। जब दुनिया में ARPANET  Internet कि अविष्कार हुआ था तब इसका नाम था Network of network

 

Internet Kaise Kam Karte hai

हमने देखा इंटरनेट क्या है और इंटरनेट का इतिहास / History of Internet मतलब इंटरनेट क्या होता है / Internet Kya Hai और इंटरनेट किसने और कब पहले बनाए थे। लेकिन जिसने इंटरनेट बनाया था वह सिर्फ अकेला नहीं था और आज के दुनिया में जितने सारे लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं दो कभी नहीं कहते कि इंटरनेट सिर्फ मेरे लिए है और इंटरनेट से मेरा है। दोस्तों शायद आप भी कभी नहीं सुना और नहीं बोला होगा कि इंटरनेट पूरा आपके हैं और किसी ने बोला इंटरनेट पूरा उसकी है। What Is Internet In Hindi

तो अब बात आते हैं जो इंटरनेट हम चलाते हैं और जिसके जरिए पूरा दुनिया हमारे हाथ के अंदर आ गए हैं इस इंटरनेट का मालिक कौन है। मतलब इंटरनेट को किसने हमारे पास दिया है चलाने के लिए।

History-of-internet
Djtechhindi.com/Internet

इंटरनेट क्या है ( What Is Internet In Hindi ) जब उसके बारे में मैंने बता रहा था तब बोला था इंटरनेट का मतलब होता है एक डिवाइस को और एक डिवाइस के साथ कनेक्ट करना और एक जोक कनेक्ट करने की टोटल सिस्टम है वह एक जाल की तरह होता है इसलिए इसका नाम नेटवर्क दिया गया है। जैसे कंप्यूटर से कोई डाटा किसी दूसरे स्टोरेज पर लेने के लिए एक के बिल को जरूरत है वैसे एक डाटा सेंटर से और एक डाटा सेंटर तक इस तरह की केबल लगा हुआ है।

आप शायद सोच सकते हैं जब कंप्यूटर से हम मोबाइल पर कोई डाटा लेते हैं तब डाटा केबल इस्तेमाल करते हैं लेकिन जब हम मोबाइल पर इंटरनेट को इस्तेमाल करते हैं तब मोबाइल पर कोई डाटा केबल क्यों नहीं लगा रहते हैं। इसका मतलब है आपके मोबाइल पर एक टेक्निकल जिसको यूज़ किया गया है जिसके जरिए आपके पास कोई एक इंटरनेट की टावर से आपके पास डाटा जाता है।

इसको और भी बेहतर समझने के लिए समझे जब आप एक मोबाइल से और एक मोबाइल के पास कोई भी एक वीडियो भेजते हो तब कोई डाट केबल की जरूरत नहीं होता है क्योंकि आप मोबाइल के अंदर दिया हुआ एक शक्तिशाली माध्यम को यूज करते हो। इसी तरीके से मोबाइल टावर से एक बिना तार की कनेक्शन आपके मोबाइल से हो जाता है इसलिए कोई डाटा केबल की जरूरत नहीं होता है।

लेकिन जब एक देश से दूसरे देश की डाटा सेंटर से जोड़ने की बात आते हैं तब ऐसा पॉसिबल नहीं है एक टावर के जरिए इतनी दूर तक कोई एक डाटा को भेज सकते हैं इसलिए एक देश की मुख्य एक डाटा सेंटर रहते हैं जहां पर सारे देश की कंप्यूटर और मोबाइल टावर को जोड़ा जाता है।

और उसी डाटा सेंटर से एक तार की ( Opticle Fiver ) जरिए दूसरे देश की डाटा सेंटर पर कनेक्शन किया जाता है जिसके जरिए दोनों देश के अंदर एक कनेक्शन हो जाता है और दूसरे देश की हर कंप्यूटर और मोबाइल के अंदर भी एक कनेक्शन हो जाता है। ऐसे काम करता है इंटरनेट

 

Internet Ka Malik Koun He

तो अब बात आते हैं जो इंटरनेट हम चलाते हैं और जिसके जरिए पूरा दुनिया हमारे हाथ के अंदर आ गए हैं इस इंटरनेट का मालिक कौन है। मतलब इंटरनेट को किसने हमारे पास दिया है चलाने के लिए।

अगर आप समझ लिया कि इंटरनेट कैसे काम करता है / Internet Kaise kam karte Hai तो इंटरनेट का मालिक कौन है इसको समझने के लिए और भी आसान हो जाएगा। इंटरनेट का कोई मालिक नहीं है लेकिन यह जो एक देश की डाटा सेंटर से और एक देश की डाटा सेंटर तक जुड़ा जाता है इसके लिए बहुत सारे पैसा की जरूरत है।

क्योंकि दोनों देश की डाटा सेंटर को जोड़ने के लिए बहुत सारे तार की मतलब डाटा केबल ( Data Cable ) की जरूरत है और ऐसा डाटा केबल चाहिए जिसमें बहुत जल्दी और बहुत सारे डेटा एक बार में जा सकते हैं और आ भी सकते हैं। क्योंकि हमारे देश पर बहुत सारे कंप्यूटर और बहुत सारे मोबाइल है इसमें इस्तेमाल हुआ सारे डाटा को उसी डाटा केबल के अंदर से एक बार में जाना है और आना भी है इसलिए इस तरह की डाटा केबल ( Opticle Fiver ) को बहुत कीमती होता है।

लेकिन हमने जो मोबाइल कंपनी या फिर वाई फाई कंपनी से इंटरनेट लेते हैं वह उसी डेट अरविंद को नहीं लगाता है। कोई एक बड़ा कंपनी इस तरीके का डाटा केबल लगा के हर देश में इंटरनेट की सुविधा कर दिया है। और उसने बहुत सारे पैसा इन्वेस्ट करके एक काम किया है।

समुंदर की अदर से यह डाटा केबल एक देश से किसी दूसरे देश तक पहुंचते हैं और इसका मेंटेन करने का भी बहुत सारे पैसा लगता है। लेकिन जिस कंपनी ने डाटा के भी नहीं लगाया है उसने हमारी तक इंटरनेट को नहीं देता है वह लोग इंटरनेट को बेच देते हैं छोटा छोटा इंटरनेट प्रोवाइडर ( Vodafone, Airtel, Idea etc. ) तक ।

और इस तरह की छोटा-छोटा इंटरनेट प्रोवाइडर हम जैसे सारे मोबाइल और कंप्यूटर इस्तेमाल करने वालों के पास इंटरनेट सेल करते हैं। इसका मतलब है इंटरनेट के जरिए डाटा को हम यूज करते हैं और किसी ने हमारे देश की डाटा को भी और किसी देश से यूज कर सकते हैं लेकिन इंटरनेट का कोई मालिक नहीं होता है

इंटरनेट को एक देश से दूसरे देश तक पहुंचने के लिए कुछ कंपनी सिर्फ काम करते हैं और उस कंपनी सिर्फ उसका चार्ज लेता है दूसरे कंपनी से जिस कंपनी हमारे पास नेटवर्क देते हैं।

 

👉👉   दोस्तों तो हमने आज सीख What Is Internet In Hindi मतलब Internet Kya Hai, और भी हमने देखा इंटरनेट किसने पहले बनाया था और कैसे इंटरनेट काम करते हैं और इंटरनेट का मालिक कौन है। इंटरनेट के बारे में बहुत सारे बात है जिस बात को इस छोटा आर्टिकल के अंदर नहीं लिखा जाता है और संभव भी नहीं है इसलिए यहां पर सिर्फ इतना ही लिखा हुआ।

अगर इंटरनेट / Internet के बारे में और भी किसी जानकारी आपको चाहिए तो जरूर आप नीचे कमेंट कर सकते हैं और इंटरनेट  के बारे में जितने सारे पोस्ट मैंने यहां पर लिखा है उसका एक लिंक नीचे आपको जरूर दिखाई देगा आप वहां पर क्लिक करके इंटरनेट के बारे में और भी पढ़ सकते हैं।

 

More Tech :

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top